आप अपनी Job से नाखुश हैं, तो यह कहानी आपके जीवन को नई दिशा देगी

Change the way of work,
Happiness will always.

एक बहुत ही पुरानी बात है, जो कि रोचक भी है। एक बार एक मुनि तीर्थ यात्रा पर निकले। रास्ते में एक गांव आया। मुनि जी यात्रा करते करते बहुत थक चुके थे। इसलिए उन्होंने गांव में ही एक खेत लगे बरगद के पेड़ के नीचे शरण ली।

उसी पेड़ के निकट कुछ मजदूर पत्थर से खंभे बना रहे थे। मुनि ने पूछा, “यहां पर क्या बन रहा है?” एक मजदूर ने कहा कि पत्थर काट रहा हूं।
मुनि ने फिर पूछा, “वो तो दिखाई दे रहा है, लेकिन यहां क्या बनेगा?” दूसरे मजदूर ने कहा, “मालूम नहीं, हम तो बस अपनी दिहाड़ी लगा रहे हैं और बहुत थक चुके हैं।”

मुनि को आगे चलकर एक और मजदूर मिला। उन्होंने उससे भी यही पूछा कि यहां क्या बनेगा। परंतु उस मजदूर ने भी निराशा से भरा ही उत्तर दिया।

मगर अब जो मजदूर मुनि को मिला, उसने ठीक उत्तर दिया। मुनि ने पूछा तो उसने कहा, “मुनिवर, यहां एक भव्य मंदिर बनेगा। हमारे इस गांव में कोई बड़ा मंदिर नहीं था। गांव के सभी लोगों को बाहर दूसरे गांव में त्यौहार मनाने जाना पड़ता था। मैं अपने हुनर से यहां मंदिर का निर्माण कर रहा हूं। जब मैं पत्थरों पर छैनी चलाता हूं तो मुझे मंदिर की घंटी की आवाज सुनाई देती है। मैं अपने इसी काम में मगन रहता हूं।”

मुनिवर उस मजदूर के इस नजरिए से अभिभूत हो गए और उन्होंने उसे आशीर्वाद दिया। तात्पर्य यह है कि आप जीवन को किस तरीके से जीते हैं, यह आपका रवैया तय करता है। यदि किसी भी काम को आनंद के साथ किया जाए तो हमेशा परमानंद की अनुभूति होती है।

उस मजदूर को छैनी की आवाज में भी मंदिर की घंटियां सुनाई दे रही थीं। यानि उसका नजरिया महान था। इसलिए वह अपने इस काम को बड़े आराम से बिना थके कर पाया। इसलिए कहते हैं कि खुशी आपके काम में नहीं, काम के प्रति आपके नजरिए में है।

ऐसी ही प्रेरणादायक कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें

अगर आपके पास भी Hindi में कोई प्रेरणादायक कहानी या अच्छा सा article है जो कि आप लोगों के साथ सांझा करना चाहते हैं तो आप हमें ईमेल कर सकते हैं और हम आपके द्वारा भेजा हुआ लेख आपके नाम सहित publish करेंगे। हमारी Email Id है – hinglishtalk@gmail.com

और हां, आपको यह प्रेरक प्रसंग कैसा लगा, हमें comments के माध्यम से जरुर बताएं और अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों के साथ share करना ना भूलें। धन्यवाद्! 🙂

PARAS SINGLA

Paras Singla, a passionate blogger based in Kalanwali. He loves to read and write motivational, health related blogs. He is not perfect in any field because there is always some scope of improvement.

One thought on “आप अपनी Job से नाखुश हैं, तो यह कहानी आपके जीवन को नई दिशा देगी

  • October 18, 2017 at 2:23 pm
    Permalink

    Very inspiring story
    superb

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.